Amit Shah (@AmitShah)

11426 posts      21975686 followers      295 followings     

Union Home Minister, Government of India | MP, Gandhinagar Lok Sabha. http://www.instagram.com/amitshahofficial

http://www.amitshah.co.in

2013-05-22 04:43:54

This year, celebrate a unique Rakshabandhan. Send good wishes and motivate a special brother. Your wishes matter! https://www.narendramodi.in/e-rakhi

समस्त देशवासियों को रक्षाबंधन के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।

समस्त देशवासियों को रक्षाबंधन के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।

कोरोना के शुरूआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है परन्तु डॉक्टर्स की सलाह पर अस्पताल में भर्ती हो रहा हूँ। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आयें हैं, कृपया स्वयं को आइसोलेट कर अपनी जाँच करवाएं।

ગુજરાતના મુખ્યમંત્રી શ્રી વિજયભાઇ રૂપાણીને જન્મદિવસની હાર્દિક શુભકામનાઓ. આપની આગેવાનીમાં ગુજરાતે સારી પ્રગતિ કરી છે. આપ હંમેશા સ્વસ્થ રહો, દીર્ઘાયુ રહો, એવી પ્રભુને પ્રાર્થના.  @Vijay Rupani

लोकमान्य तिलक अस्पृश्यता के प्रबल विरोधी थे। उन्होंने 1918 में मुंबई के एक सम्मेलन में कहा था कि यदि ईश्वर अस्पृश्यता को स्वीकार करते हैं तो मैं ऐसे ईश्वर को स्वीकार नहीं करता।

उस समय इस प्रकार की बात और इसके प्रति कटिबद्धता लोकमान्य तिलक जैसा कोई साहसी व्यक्ति ही कर सकता था।

लोकमान्य तिलक अस्पृश्यता के प्रबल विरोधी थे। उन्होंने 1918 में मुंबई के एक सम्मेलन में कहा था कि यदि ईश्वर अस्पृश्यता को स्वीकार करते हैं तो मैं ऐसे ईश्वर को स्वीकार नहीं करता। उस समय इस प्रकार की बात और इसके प्रति कटिबद्धता लोकमान्य तिलक जैसा कोई साहसी व्यक्ति ही कर सकता था।

आदि शंकराचार्य जी ने गीता के संन्यास भाव को लोगो के सामने रखने का काम किया था और लोकमान्य तिलक जी ने जेल के अंदर रहते हुए ‘गीता रहस्य’ लिखकर गीता के अन्दर के कर्मयोग को लोगो के सामने लाने के काम किया।

‘गीता रहस्य’ आज भी संसार में अनेक लोगों के जीवन को दिशा प्रदान कर रही है।

आदि शंकराचार्य जी ने गीता के संन्यास भाव को लोगो के सामने रखने का काम किया था और लोकमान्य तिलक जी ने जेल के अंदर रहते हुए ‘गीता रहस्य’ लिखकर गीता के अन्दर के कर्मयोग को लोगो के सामने लाने के काम किया। ‘गीता रहस्य’ आज भी संसार में अनेक लोगों के जीवन को दिशा प्रदान कर रही है।

Interacting with our bright young minds at the Smart India Hackathon. https://www.pscp.tv/w/cfP-vjMyMjExNTJ8MXlOR2FCZVlSbFFKapAeltBGLvZjvzNtBOQXb9h8zTpHWmF7sUCWtuOiSGTo

एक प्रतिभापूर्ण व्यक्ति सादगी से कैसे रह सकता है ये कोई तिलक जी से सीखे।

वह स्वयं के लिए जीवन जी सकते थे परन्तु उन्होंने समाज को स्वतंत्रता आन्दोलन, संस्कृति व स्वदेशी की भावना के साथ जोड़ने का कठिन लक्ष्य बनाया।

स्वतंत्रता संग्राम को भारतीय बनाने का काम तिलक जी ने किया।

एक प्रतिभापूर्ण व्यक्ति सादगी से कैसे रह सकता है ये कोई तिलक जी से सीखे। वह स्वयं के लिए जीवन जी सकते थे परन्तु उन्होंने समाज को स्वतंत्रता आन्दोलन, संस्कृति व स्वदेशी की भावना के साथ जोड़ने का कठिन लक्ष्य बनाया। स्वतंत्रता संग्राम को भारतीय बनाने का काम तिलक जी ने किया।

तिलक जी का 'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा' का नारा आज भले ही सामान्य लगता हो परन्तु 19वीं सदी में बहुत कम लोग ऐसा बोल सकते थे व उसको चरितार्थ करने के लिए अपना जीवन खपा सकते थे।

स्वराज का यह वाक्य स्वतंत्रता इतिहास में हमेशा सुनहरे अक्षरों में लिखा रहेगा।

तिलक जी का 'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा' का नारा आज भले ही सामान्य लगता हो परन्तु 19वीं सदी में बहुत कम लोग ऐसा बोल सकते थे व उसको चरितार्थ करने के लिए अपना जीवन खपा सकते थे। स्वराज का यह वाक्य स्वतंत्रता इतिहास में हमेशा सुनहरे अक्षरों में लिखा रहेगा।

मरण और स्मरण में आधे अक्षर का अंतर है, लेकिन यह आधा ‘स’ जोड़ने के लिए पूरा जीवन देश, संस्कृति, स्वधर्म और स्वदेश के लिए समर्पित कर सिद्धांतों पर चलना पड़ता है।

ये तिलक जी का बहूआयामी व्यक्तित्व ही है जिसके कारण हम उनके विचारों, जीवन व संघर्षों का सदियों तक स्मरण करते रहेंगे।

मरण और स्मरण में आधे अक्षर का अंतर है, लेकिन यह आधा ‘स’ जोड़ने के लिए पूरा जीवन देश, संस्कृति, स्वधर्म और स्वदेश के लिए समर्पित कर सिद्धांतों पर चलना पड़ता है। ये तिलक जी का बहूआयामी व्यक्तित्व ही है जिसके कारण हम उनके विचारों, जीवन व संघर्षों का सदियों तक स्मरण करते रहेंगे।

मैं युवाओं से अपील करता हूँ कि अगर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को जानना है और विश्व में अपने गौरवमय इतिहास के साथ आगे कैसे बढ़ना है, यह समझना है तो तिलक जी के जीवन का अध्ययन करना होगा। तिलक जी के विचार मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को चरितार्थ करने में अहम भूमिका निभाएंगे।

मैं युवाओं से अपील करता हूँ कि अगर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को जानना है और विश्व में अपने गौरवमय इतिहास के साथ आगे कैसे बढ़ना है, यह समझना है तो तिलक जी के जीवन का अध्ययन करना होगा। तिलक जी के विचार मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को चरितार्थ करने में अहम भूमिका निभाएंगे।

Addressed a webinar 'Lokmanya Tilak: Swaraj to Atmanirbhar Bharat' organized by @ICCR_Delhi on the 100th punyatithi of Lokmanya Tilak.

This seminar will surely inspire the nation by connecting Modi ji's resolve of Atmanirbhar Bharat with Lokmanya Tilak ji’s vision of Swaraj. 4

Addressed a webinar 'Lokmanya Tilak: Swaraj to Atmanirbhar Bharat' organized by  @ICCR on the 100th punyatithi of Lokmanya Tilak. This seminar will surely inspire the nation by connecting Modi ji's resolve of Atmanirbhar Bharat with Lokmanya Tilak ji’s vision of Swaraj.

Addressing ICCR’s international webinar ‘Lokmanya Tilak: Swaraj to Atmanirbhar Bharat’.  @ICCR https://www.pscp.tv/w/cfOitzFheWpWdndsWGVSanB8MU9kS3JXYldqT3dHWBcXGns3bmKjjqiY2P9ab1DMurd8fLpDT1ufAG...

लोकमान्य तिलक जी का अध्ययन असीमित था, उनके विचारों, कृतित्व और शोधों में उनके गहन चिंतन को साफ देखा जा सकता है। उनका मानना था कि जब देश गुलामी की बेड़ियों में जकड़ा हो तब भक्ति और मोक्ष नहीं कर्मयोग की जरूरत होती है। ऐसे वीर नायक की 100वीं पुण्यतिथि पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि।

लोकमान्य तिलक भारतीय संस्कृति व उसकी चेतना की आत्मा हैं। वह अस्पृश्यता के प्रबल विरोधी थे उन्होंने जाति और संप्रदायों में बंटे समाज को एक बनाने के लिए बड़ा आंदोलन चलाया। अंग्रेजों से डरे लोगों को स्वाधीनता के लिए प्रेरित करने के लिए तिलक जी ने ही सार्वजनिक गणेश उत्सव शुरू किया।

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक जी का स्वतंत्रता आन्दोलन में अतुलनीय योगदान है, उन्होंने अपने जीवन का क्षण-क्षण राष्ट्र को समर्पित कर क्रांतिकारियों की एक वैचारिक पीढ़ी तैयार की।अंग्रेजों के विरुद्ध आवाज बुलंद कर उन्होंने स्वराज का जो नारा दिया उसने देश में नया साहस और विश्वास जगाया।

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक जी का स्वतंत्रता आन्दोलन में अतुलनीय योगदान है, उन्होंने अपने जीवन का क्षण-क्षण राष्ट्र को समर्पित कर क्रांतिकारियों की एक वैचारिक पीढ़ी तैयार की।अंग्रेजों के विरुद्ध आवाज बुलंद कर उन्होंने स्वराज का जो नारा दिया उसने देश में नया साहस और विश्वास जगाया।

Hon'ble Union Minister of Home Affairs Shri @AmitShah will address the Inaugural Session of the upcoming International Webinar on "Lokmanya Tilak: Swaraj to Atmanirbhar Bharat". Please do join us live on: 

#लोकमान्य_स्मृति_शताब्दी
#TilakCentenary

Hon'ble Union Minister of Home Affairs Shri  @Amit Shah will address the Inaugural Session of the upcoming International Webinar on "Lokmanya Tilak: Swaraj to Atmanirbhar Bharat". Please do join us live on: http://www.iccr.gov.in  #लोकमान्य_स्मृति_शताब्दी  #TilakCentenary

साहस व शौर्य के अद्वितीय प्रतीक उधम सिंह का जीवन दर्शता है कि एक भारतीय के हृदय में देशभक्ति की भावना कितनी प्रखर होती है। शहीद उधम सिंह जी के पराक्रम ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक अविस्मरणीय अध्याय लिखा।

ऐसे महान स्वतंत्रता सेनानी के बलिदान दिवस पर उन्हें शत-शत नमन।

साहस व शौर्य के अद्वितीय प्रतीक उधम सिंह का जीवन दर्शता है कि एक भारतीय के हृदय में देशभक्ति की भावना कितनी प्रखर होती है। शहीद उधम सिंह जी के पराक्रम ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में एक अविस्मरणीय अध्याय लिखा। ऐसे महान स्वतंत्रता सेनानी के बलिदान दिवस पर उन्हें शत-शत नमन।

मुंशी प्रेमचंद जी ने एक गरीब परिवार से आने के बाद भी देश की आजादी के लिए गांधी जी के आह्वान पर अपनी नौकरी छोड़ दी थी। स्वाधीनता संग्राम में उन्होंने राष्ट्रभक्ति से ओत प्रोत ‘सोज़े वतन’ नाम का कहानी संग्रह लिखा। उनकी जयंती पर मैं युवाओं से उनकी रचनाओं को पढ़ने का आग्रह करता हूँ।

उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी के नाम के बिना भारतीय साहित्य की चर्चा अधूरी है। भारतीय साहित्य और मुंशी प्रेमचंद एक दूसरे के पूरक हैं। उन्होंने सरल भाषा का उपयोग कर अपने प्रगतिशील विचारों को पन्नों पर उतारा। उनके यथार्थवादी व आमजन के जीवन पर आधारित लेखन ने उन्हें अमर बना दिया।

उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद जी के नाम के बिना भारतीय साहित्य की चर्चा अधूरी है। भारतीय साहित्य और मुंशी प्रेमचंद एक दूसरे के पूरक हैं। उन्होंने सरल भाषा का उपयोग कर अपने प्रगतिशील विचारों को पन्नों पर उतारा। उनके यथार्थवादी व आमजन के जीवन पर आधारित लेखन ने उन्हें अमर बना दिया।

Education is the foundation of any nation and for the last 34 years, India was in dire need of such a futuristic policy. I express my gratitude to PM  @Narendra Modi &  @Dr. Ramesh Pokhriyal Nishank on this landmark policy decision which will play an unprecedented role in building of a  #NewIndia.

Objective of National Education Policy 2020 is to bring in a huge transformational change in the Indian Education system through holistic and multidisciplinary approaches. Focus on different aspects will lead to the overall development of the children across the country.  #NEP2020

 #NEP2020 will also have the provision of academic credit bank, increased investment in education system, internationalism of education, special education zone for disadvantaged regions, upgradation of KGBV’s to 12 grade and an increased focus on Lok Vidya & the use of technology.

 #NEP2020 brings in various features like 5+3+3+4 system in school education, introduction of new 4-year courses, single point common regulatory system, fee fixation & common norms within board regulatory framework; along with multiple entry & exit points in higher education.

Modi govt’s  #NEP2020 ensures that quality education will reach students of every section of the society, a special joint task force will be constituted to ensure the same. To increase the Gross Enrolment Ratio (GER) in higher education, continuous & strategic steps will be taken.

No nation in the world can excel by giving up its culture & values. The aim of PM  @Narendra Modi’s  #NEP2020 is to create an education system which is deeply rooted in Indian ethos and can rebuild India as a global knowledge superpower, by providing high-quality education to all.

A truly remarkable day in the history of Indian education system! Under the visionary leadership of PM  @Narendra Modi ji, Union Cabinet today approved 'New Education Policy 2020' for the 21st century. This brings in much needed historic reforms in both School & Higher Education.

राष्ट्ररक्षासमं पुण्यं,

राष्ट्ररक्षासमं व्रतम्,

राष्ट्ररक्षासमं यज्ञो,

दृष्टो नैव च नैव च।।

नभः स्पृशं दीप्तम्...
स्वागतम्! #RafaleInIndia

राष्ट्ररक्षासमं पुण्यं, राष्ट्ररक्षासमं व्रतम्, राष्ट्ररक्षासमं यज्ञो, दृष्टो नैव च नैव च।। नभः स्पृशं दीप्तम्... स्वागतम्!  #RafaleInIndia

From speed to weapon capabilities, Rafale is way ahead!

I am sure these world class fighter jets will prove to be a game changer. Congratulations to PM @narendramodi ji, DM @rajnathsingh ji, Indian Air Force and the entire country on this momentous day. #RafaleInIndia

From speed to weapon capabilities, Rafale is way ahead! I am sure these world class fighter jets will prove to be a game changer. Congratulations to PM  @Narendra Modi ji, DM  @Rajnath Singh ji, Indian Air Force and the entire country on this momentous day.  #RafaleInIndia

©Twianon | Best Twitter online viewer | About Us
This site uses the Twitter API but is not endorsed or certified by Twitter. All Twitter logos and trademarks displayed on this applicatioin are property of Twitter.